ऑडिट पैंरों की स्थानीय निधि लेखा समिति ने की समीक्षा

लंबित पैरों के समायोजन को लेकर उठाए जाएं आवश्यक कदम

चंबा ,13 अक्तूबर
हिमाचल प्रदेश विधान सभा की स्थानीय निधि लेखा समिति के सभापति इंद्रदत्त लखनपाल की अध्यक्षता में आज उपायुक्त कार्यालय के सभागार में राज्य लेखा परीक्षा विभाग के तहत आने आने वाले विभिन्न संस्थानों,बोर्डों, स्वायत्त ,अर्ध- स्वायत्त निकायों के ऑडिट पैरों की समीक्षा को लेकर एक बैठक का आयोजन किया गया ।
बैठक में समिति सदस्य विधायक सतपाल सिंह सत्ती, होशियार सिंह, डीएस ठाकुर, केवल सिंह पठानिया, पूर्ण चंद ठाकुर, कुलदीप सिंह राठौर एवं हरीश जनार्था ने भाग लिया ।
चंबा के विधायक नीरज नैय्यर भी बैठक में विशेष रूप से उपस्थित रहे ।
समिति सभापति इंद्रदत्त लखनपाल ने कहा कि किसानों एवं बागवानों को उपज का उचित प्रतिफल मिले इसके लिए कृषि उपज एवं मंडी समिति ज़िला में विपणन केंद्र की (मार्केटिंग यार्ड) संख्या को बढ़ावा देने के लिए आवश्यक कदम उठाएं।
साथ में उन्होंने यह भी कहा कि चूंकि चंबा ऐतिहासिक ज़िला है, ऐसे में पौराणिक मंदिरों एवं स्थलों को भी संरक्षित रखा जाना आवश्यक है ।
इंद्रदत्त लखनपाल ने नगर परिषद चंबा तथा ड़लहौजी में मास्टर प्लान के आधार पर विकासात्मक कार्यों को गति प्रदान करने को निर्देशित किया ।
उन्होंने गृह कर एकत्रीकरण व्यवस्था को और अधिक प्रभावी बनाने की आवश्यकता पर जोर देते हुए व्यावसायिक परिसरों तथा होटल इत्यादि के लंबित कर मामलों में विशेष प्राथमिकता रखने को कहा ।
ज़िला के विभिन्न औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में जॉब ओरिएंटेड ट्रेड शुरू करने को लेकर भी इंद्रदत्त लखनपाल ने संबंधित अधिकारियों को विभागीय प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए ।
बैठक में समिति ने विभिन्न संस्थानों एवं स्थानीय निकायों के ऑडिट पैंरों की विस्तृत समीक्षा के साथ विकासात्मक कार्य में तेजी लाने को लेकर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी प्रदान किए।
साथ में समिति ने ज़िला के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों में अपशिष्ट पदार्थ प्रबंधन व्यवस्था को और सुदृढ़ बनाने को निर्देशित किया ।
बैठक में समिति के समक्ष संबंधित संस्थानों के अधिकारियों ने राज्य लेखा परीक्षा विभाग द्वारा अंकित किए गए ऑडिट पैंरों का विस्तृत ब्योरा रखा।
समिति ने सभी संबंधित अधिकारियों को लंबित ऑडिट पैरों के समायोजन को लेकर जल्द आवश्यक कदम उठाने के निर्देश जारी किए ।
बैठक में श्री मणिमहेश ट्रस्ट तथा श्री लक्ष्मी नारायण ट्रस्ट से संबंधित मामलों पर भी विस्तृत चर्चा की ।
उपायुक्त अपूर्व देवगन, पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव, अतिरिक्त ज़िला दंडाधिकारी अमित मैहरा, विधानसभा में कमेटी अधिकारी राकेश ठाकुर, अनुभाग अधिकारी धर्मपाल ठाकुर सहित विभिन्न विभागों तथा संस्थानों के ज़िलाधिकारी बैठक में उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *