ठंगर में उठाऊ पेयजल योजना के स्त्रोत सुदृढ़ीकरण कार्य का किया शिलान्यास

3700 लोगों को मिलेगा शुद्ध पेयजल

ज्वाली,17 अक्टूबर । कृषि व पशुपालन मंत्री प्रो. चंद्र कुमार ने कहा कि पेयजल योजनाओं के स्रोतों को सुदृढ़ कर हर घर तक नल से शुद्ध जल पहुँचाना प्रदेश सरकार का ध्येय है। यह विचार कृषि मंत्री ने आज मंगलवार को ज्वाली विधानसभा क्षेत्र के तहत ठंगर गांव में 54 लाख रूपए से निर्मित होने वाले उठाऊ पेयजल योजना के स्त्रोत सुदृढ़ीकरण कार्य का शिलान्यास करने के बाद जनसभा को संबोधित करते हुए व्यक्त किए।

प्रो. चंद्र कुमार ने कहा की इस पेयजल योजना के बनने से क्षेत्र की चार पंचायतों के लगभग 3700 लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकार के कार्यकाल में पानी की पाईपें डालने पर ज्यादा जोर दिया गया लेकिन पानी के स्त्रोतों को नजरअंदाज किया गया जिस कारण ग्रामीण क्षेत्रों को पानी की कमी से जूझना पड़ा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार पाइप लाइन ,पानी के टैंक तथा पानी के स्रोतों को सुदृढ कर हर घर स्वच्छ पेयजल पहुँचाना सुनिश्चित कर रही है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा लोगों को पर्याप्त शुद्ध पेयजल उपलब्ध करवाने के साथ किसानों के खेतों तक सिंचाई के लिए पानी पहुंचाने हेतु कई परियोजनाएं तैयार की जा रही हैं। उन्होंने बताया कि जायका परियोजना के अंतर्गत मनभरी तथा ठंगर क्षेत्र में खेतों तक पानी पहुँचाने के लिए लगभग 161 लाख रुपए की लागत से सिंचाई चैनल बनाए जाएंगे जिससे लगभग 35 हेक्टेयर भूमि में सिंचाई की सुविधा मिलेगी ।

उन्होंने कहा कि प्रदेश को कृषि उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने तथा किसानों की आर्थिकी को सुदृढ बनाने के लिए राज्य सरकार द्वारा विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। इन प्रयासों के तहत सरकार द्वारा चलाई जा रही ‘हिमगंगा’ तथा ‘हिम उन्नति’ जैसी प्रमुख योजनाएं किसानों के सुनहरे भविष्य को संवारने में कारगर सिद्ध होंगीं।

प्रो. चंद्र कुंमार ने कहा विधानसभा का समग्र विकास उनकी प्राथमिकता है। उन्होंने बताया कि नगर पंचायत ज्वाली में 19 करोड़ रुपए की लागत से सीवरेज सिस्टम तैयार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सिविल हॉस्पिटल ज्वाली में 50 करोड़ रुपए की लागत से अतिरिक्त भवन का निर्माण किया जा रहा है तथा ज्वाली महाविद्यालय के नए भवन निर्माण के लिए जगह चिन्हित कर ली गई है जिसके निर्माण पर 5 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। 
 कृषि मंत्री ने कहा कि प्रदेश में बेसहारा पशुओं की समस्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। जिनसे किसानों की फसलों को नुकसान होने के साथ सड़कों पर दुर्घटनाएं भी बढ़ रही हैं। उन्होंने कहा कि इस समस्या के स्थाई समाधान के लिए राज्य सरकार विस्तृत योजना तैयार कर रही है ताकि बेसहारा गौवंश को स्थाई आसरा मिल सके।

कृषि मंत्री ने इस मौके पर जनसमस्याएं भी सुनीं तथा अधिकांश का मौके पर ही समाधान किया। जबकि शेष के समयबद्ध निपटारे हेतु सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश दिए।

ये रहे मौजूद
एसडीएम बचित्र सिंह ठाकुर, बीडीओ श्याम सिंह,जल शक्ति विभाग के अधिशासी अभियंता अजय शर्मा,एसडीओ पवन कौंडल,बिजली बोर्ड के अधिशासी अभियंता आदर्श शर्मा, लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता मनोहर लाल शर्मा, उपमंडल भू-संरक्षण अधिकारी चंचल राणा, कांग्रेस प्रवक्ता संसार सिंह संसारी,राजीव गांधी पंचायती राज प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मनमोहन सिंह, ओबीसी जिला संगठन उपाध्यक्ष अश्वनी चौधरी,
आईटीआई अध्यक्ष मनु शर्मा, नगर पंचायत अध्यक्ष राजिंद्र राजू,उपाध्यक्ष केवी पठानिया, पार्षद पुष्पा चौधरी,यूथ कांग्रेस अध्यक्ष शशि चौधरी सहित अन्य विभागों के अधिकारी, कर्मचारी,पंचायत प्रतिनिधि तथा गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *